Monday, July 27, 2020

Hindi Sex Story: Bua Ki Beti Ki Chudai Woh Bhi Jor Se

यह तब की बात है जब बुआ की बड़ी लड़की की शादी थी और मैं शादी के इंतजाम के लिए एक महीना पहले चला गया था.

Hindi Sex Story: Bua Ki Beti Ki Chudai Woh Bhi Jor Se

Hindi Sex Story: Bua Ki Beti Ki Chudai Woh Bhi Jor Se


मेरी बुआ के घर में एक किराएदार रहते थे उनकी एक लड़की थी नाम था Anisha! वो बहुत सुन्दर थी, मैं उसे चोदना चाहता था.
जब मैंने बुआ की एक लड़की Swastika को अपने मन की बात बताई कि मैं Anisha को प्यार करने लगा हूँ, तो Swastika ने तभी अपने प्यार की बात बताई कि वो मन ही मन मुझे प्यार करने लगी थी और मुझे चूम लिया.
मैं भी जज्बात में बह गया और मैंने भी उसे चूम लिया.

हम दोनों पास-पास ही सोते थे. एक रात जब हम दोनों सोये हुए थे तो मुझे नींद नहीं आ रही थी और मैं Swastika की नाइटी में हाथ डाल कर उसकी चूची दबाने लगा. पर शायद वो गहरी नींद में थी, मेरी हिम्मत बढ़ी, मैंने उसकी पेंटी के ऊपर हाथ फिराया तो पाया उसने नेपकिन लगाया हुआ है, और पता नहीं कब नींद आ गई.

सुबह जब मैंने Swastika को बताया कि मैंने तेरी पेंटी पर हाथ फिराया था तो उसे विश्वास ही नहीं हुआ कि मैंने ऐसा किया होगा.
जब मैंने उसे नेपकिन वाली बात बताई जब उसने मान लिया कि मैं सच बोल रहा हूँ.
तब मैंने उससे सेक्स पर बात करनी चालू कर दी.

अगली रात को मैंने उससे कहा- चल कुछ सेक्स हो जाये!
तो वो बोली- नहीं!
मैं- क्यों? तू तो मुझसे प्यार करती है फिर क्यों नहीं?
Swastika- मैं गन्दा काम नहीं कर सकती.
मैं- गन्दा मतलब?
Swastika- वो ही जो तुम चाहते हो!
मैं- चुम्मी तो दे दे!
Swastika- चल ठीक है!

मैंने उसको खूब चूमा और उसकी कपड़ों के ऊपर से ही चूचियाँ सहलाई. वो गर्म होने लगी पर शरमा रही थी. मैं उसकी शर्म दूर करने के लिए उससे बात करने लगा.
यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं.

मैं- तेरा क्या नाप है?
और मेरे हाथ अपना काम कर ही रहे थे.
Swastika- 32″
मैं- कभी दबवाई हैं या नहीं?
वो ही जबाब जो हर रण्डी भी देती है- नहीं!

फिर मैं अपना हाथ धीरे धीरे उसकी नाइटी में डालने लगा तो उसने मना कर दिया.
मैंने कहा- क्यों?
उसने कहा- ऊपर से चाहे जो कर लो, पर अंदर नहीं!
मैंने पूछा- क्यों? अंदर क्यों नहीं?
तो उसने कहा- बस ऐसे ही!

मैं ऊपर से ही उसकी चूत पर हाथ फिराता रहा पर मुझसे रुका नहीं जा रहा था, मैंने उसे कहा- मेरा लण्ड तो पकड़ ले!
उसने पजामे के ऊपर से ही लण्ड पकड़ कर सहलाया.
मैंने कहा- हाथ तो अंदर डाल ले!

उसने मना कर दिया, मुझे बहुत गुस्सा आया पर मैं शांत रहा और अपना अपना लण्ड पजामे से बाहर निकल कर उसके हाथ में दे दिया. वो भी धीरे धीरे गर्म हो गई, मैंने मौके का फ़ायदा उठाया और उसके चूचे अंदर हाथ डालकर पकड़ लिए और प्यार से हाथ फिराने लगा.
फ़िर मैंने अपना पानी उसके पेट पर गिराया और उससे चिपक कर सो गया.

अगली रात को हम फिर चालू हो गए. वो कुछ खुल कर कर रही थी.
मैंने उसे कहा- चुम्मी लेनी है.
उसने कहा- ले लो!
मैंने कहा- नीचे की लेनी है... Read More

Previous Post
Next Post

post written by:

0 Comments: